My Name Review Hindi | Season1 Episode 7,8 Recap & Review

Deep Breath:

My Name Review Hindi वेब सिरिज का एपिसोड 7 अस्पताल में कैप्टन की ओपरेशन से शुरू होता हैं। वहाँ ज्वू आती है पुछती है कैप्टन अभी कैसे हैं। चार घंटे तक सर्जरी की गई, पिल-डो ने इस बात कि भी पुष्टि की कि उन्हें घटनास्थल पर खून और उंगलियों के निशान मिले हैं।

ज्वू को चोट लगी है,क्या वे निशान ज्वू के हैं। ताएजू मुजिन को फोन करके बताता है कि कैप्टन चा बच गया,एन वक्त पर वहाँ ज्वू आ जाती हैं।मुझे लगता है ज्वू को सच्चाई का पता चल चुका होगा उसे खत्म करना होगा। इससे पहले कि ज्वू को उसके अपार्टमेंट के बाहर पकड़ लिया जाता हैं।उसके सिर पर एक बैग फेंक दिया जाता है और तीन गुंडे उसे पानी से भरे बाथरुम में खींचकर ले जाते है और उसे डुबाने लगते हैं।

लेकिन ज्वू पलटवार करती है वो तीन गुंडों मार देती हैं।फिर वहाँ ताएजू आ जाता हैं। वो कहता है कैसा लगा सच जानकर, हमारे ही गददार कि बेटी होकर हमसे ही आकर कहती हो, मेरे पिता के कातिल से बदला लेना है मुझे।ज्वू कहती है तुमने मारा है मेरे पापा को,ताएजू कहता है सायद मैं मार सकता।तुम जै-मुजिन को नही जानती वो अपने गदारो को अपनी हाथो से खुद मारता हैं।वास्तव में यह मुजिन था जिसने डोंगहून को मार डाला।

फिर ज्वू और ताएजू में लराई होती है जिसमे ज्वू, ताएजू की हत्या कर देती हैं। इस बीच, पिल-डो और अन्य अधिकारियों को मंदिर से मुजिन के बारे में एक सूचना मिलती है।वो लोग वहाँ से जाने वाले ही होते है तभी वहाँ वास्तव जै-मुजिन अपनी मर्जी से पुलिस स्टेशन में आता है।

अब यह पता चला है कि यहाँ मुजिन का अपना एजेंडा हैं। जो कैप्टन चा और गांगजे की हत्या का विरोध करने और यह दावा करता है मैंने इन दोनो को नही मारा।मुजिन की वकील सुश्री कांग होती हैं।जो पूछताछ के दौरान मुजिन के साथ बैठती हैं। जब ज्वू आती है तो उसे पता चलता है, की मुजिन अपनी बेगुनाही साबित करने आया हैं।

लेकिन ज्वू कहती है मैं जानती हू की तुम्हारा एक खबरी हमारे डिपार्टमेंट में है,लेकिन इस बार वो भी तुम्हे नही बचा सकता हैं। गांगजे की जिस चाकू से हत्या हुई,वो हमारे पास है उसपर तुम्हारे ऊंगलियो के निशान से यह साबित हो जायेगा।अब तुम्हे कोई नही बचा सकता हैं। तुम्हारे बयान की जरुरत नही है एक घंटे में वारंट भी मिल जायेगा।तुम्हारा खेल खत्म,फिर ज्वू वहाँ से चली जाती हैं। और वह सबुत घर में जाकर चाकू वहाँ से लेकर निकल जाती हैं।

Also read: My Name Web Series | Season1 Episode 5,6 Recap & Review


यह प्रमाण दो रूपों में आता हैं।सबसे पहले मुजिन ने जिस चाकू का इस्तेमाल किया था उसे सबूतों से हटा दिया गया है, जबकि पुलिस ने चा की मौत की रात के सीसीटीवी फुटेज की जांच की और उसमे पता चला, कि यह ज्वू की कार हैं।और फोन डिटेल्स से भी पता चलता है,ज्वू ही जै-मुजिन का खबरी थी। ज्वू चाकू लेकर किसी तरह स्टेशन के सामने से निकलने में सफल हो जाती हैं। क्योंकि पिल-डो तो उसे सदमे में देखता रह जाता हैं।

दुसरे अधिकारी उसे रोकने की कोसिस करता है लेकिन आखिर वह किसी तरह वह चाकू लेकर भाग जाती हैं।जिसके परिणामस्वरूप मुजिन को सबूतों की कमी के कारण रिहा कर दिया जाता है। ऐसा प्रतीत हो रहा है मानो ज्वू जै-मुजिन से बदला लेने के लिए यह योजना बना रही हैं। यह मुजिन की ओर से भी एक परीक्षा थी,यह देखने के लिए कि ज्वू अपने उद्देश्य के लिए कितनी दूर तक जाने को तैयार हैं।

पिल-डो निश्चित नहीं है कि किस पर विश्वास किया जाए, वह ज्वू की कमजोरी के उन क्षणों को याद कर रहा है जब हमारा नायक चाकू पकड़ लेता हैं।और उसे सड़क के एक लंबे खंडे के बीच में पानी में फेंक देता हैं।वह अकेली है और ऐसा प्रतीत होता है कि वह अकेले ही मुजिन के पीछे जा रही है। इस बीच मुजिन वापस डोंगचेओन जिम में आता है,जहां उसे ताएजू की लाश मिलता हैं।जो एक चेतावनी के रूप में काम करता हैं।

सुश्री कांग मुजिन से पुछता है ये सब क्या है,मुजिन कहता है उसने मुझे पुलिस स्टेशन से इसलिए छुरवाया की वो मुझे खुद मार सके। ज्वू शमशान में अपने पिता को सम्मान देने के बाद वहाँ से निकल जाती हैं। लेकिन रास्ते में पिल-डो ने उसे रोक दिया। ज्वू के अपार्टमेंट पर पहले से नजर रखने के कारण उसे पता चल गया कि वह शमशान में हैं।

दीवार पर कोई कलश नहीं था और ऐसे में पिल-डो को एहसास हुआ, कि वह अपने पिता की कलश को लेकर शमशान गई होगी।पिल-डो तुरंत ज्वू को गिरफ्तार कर लेता हैं। जबकि मुजिन ने फैसला किया, कि ज्वू को पुलिस स्टेशन से बाहर निकालना हैं।इसके लिए वो ये काम सुश्री कांग सौपती है, सुश्री कांग उसे हिरासत से छुड़ाने के लिए हर संभव कोसिस करेगी।कांग ज्वू का पता लगाने के लिए काम सुरु कर देती हैं।

पिल-डो ज्वू के साथ पुलिस स्टेशन के लौकप में बैठता है,और कहता है कि वह खुल कर अपना असली नाम बताए। यही पर My Name Review Hindi वेब सिरिज का 7 वां एपिसोड खत्म होता हैं। आगे क्या होगा ये जानने के लिए आगे का एपिसोड पढें ?

My Name Web Series Hindi Trailer

यहाँ पर आप My Name Web Series Hindi कि Trailer को Online देख सकते हैं।


My Name Web Series Episode8

Sudden Endings:

My Name Review Hindi वेब सिरिज के एपिसोड 8 का शुरुआत ज्वू के सलाखों के पीछे से शुरू होता हैं। सुश्री कांग मुजिन के एक संदेश के साथ आती हैं, जिसमें यह वादा किया गया हैं। कि अगर वह जै-मुजिन के बारे में पुलिस को कुछ भी नही बताती हैं,तो वह जेल नहीं जाएंगी। वास्तव में कुछ ही समय बाद ज्वू को अस्पताल में भर्ति कर दिया जाता हैं। क्योकि ज्वू को भागते समय चोट लग गई थी, जब पिल-डो उसे पकड़ने आया था।

अस्पताल में मुजिन को हमला करने और ज्वू को अपने पास लाने का मौका मिल जाता हैं।क्या पिल-डो को ज्वू के सच्चाई के बारे में पता चलती हैं। पिल-डो को निगरानी के दौरान कैप्टन चा का फोन आता है, जिससे उसे पता चलता है कि कैप्टन चा होश में आ गए हैं। वो उनसे मिलने जाता है और कहता है मैंने ओ-हाइजिन को पकड़ लिया हैं। उसने ही आप पर चाकू से हमला किया था।कैप्टन चा बताता है कि वह डोंगहून की बेटी हैं।

वह सॉन्ग जूनसू के बारे में सच्चाई का भी खुलासा करता है और वह कैसे एक अंडरकवर पुलिस एजेंट था, जिससे पिल-डो को एहसास होता है कि उसने गलत व्यक्ति को पकड़ लिया हैं। कैप्टन चा इस बात की भी पुष्टि करता है कि ताइजू ही वह व्यक्ति था, जिसने उसे चाकू मारा था।और मुजिन ने उसे पूरी तरह से धोखा दिया था।

मुजिन के गार्ड अस्पताल में घुसपैठ करते हैं, क्योंकि ज्वू को एक नर्स द्वारा मदद की जाती है।वह नर्स कहती है ये कार की चाभी है,कार निचे पार्किंग मे खड़ी हैं। उसी समय ज्वू के साथी वहाँ आ जाते है, वह अकेले ही अपने तीन सहयोगियों से लड़ती है और अस्पताल का गाउन पहनकर वहाँ निकल जाती हैं। पिल-डो ने उसे वहाँ से जाते हुए देख लेता है,और वो उसका पिछा करते निचे पार्किंग में ज्वू के कार के सामने आकर खड़ा हो जाता हैं।

ज्वू कहती है अब तो सब कुछ जान गये हो, अब मुझे जाने दो।सब कुछ जानने के बाद पिल-डो ज्वू पर भरोसा करता हैं।और ज्वू को अकेले मौत की ओर जाने से रोकने के लिए खुद को एक साथ हथकड़ी लगाने का फैसला करता हैं। और एक दुसरे के हाथ में हथकड़ी लगा देता हैं। तभी जै-मुजिन के गुंडे उनपर हमला कर देते हैं। वे दोनो उनसे लड़ते बचाते वहाँ से कार में बैठकर भागने में कामयाब हो जाते हैं। जल्द ही एक कार का पीछा शुरू हो जाता हैं।


क्योंकि पिल-डो और ज्वू मुजिन के गुंडों से बचने के लिए एक साथ लड़ते हैं। इसलिए वे उन्हें चकमा देने में कामयाब हो जाते हैं। क्या ज्वू और पिल-डो आपस में जुड़ते हैं।यह महसूस करते हुए कि उन्हें कुछ समय के लिए शांत रहने की आवश्यकता हैं।ये दोनो समुद्र तट पर एक घर में चले जाते हैं।जिसे पिल-डो के दोस्त ने किराए पर ले रखा था। पिल-डो ज्वू को ठीक करने में मदद करता है, उसके कंधे के घाव को साफ करता हैं।

पिल-डो का यह वैवहार ज्वू को समझने की एक कोसिस हैं कि उसके मन इच्छा क्या हैं। हमारे नायक एक दुसरे के फिलिंग को समझते हैं और वे दोनो पूरी भावना के साथ एक दुसरे किस करने लगते हैं।और प्यार की आगोश में खो जाते हैं। वैसे भी उन दोनो ने एक साथ रहने और मुजिन को रोकने की डोंगहून की इच्छाओं को पूरा करने का फैसला किया हैं चाहे कुछ भी हो जाए।

मुजिन डोंगहून और ज्वू के साथ अपने अधूरे काम से परेशान है। उसे लगता है कि हर किसी ने उसे धोखा दिया हैं। उसे समझ नहीं आ रहा है कि वो क्या करे और कहाँ जाए।उसके सामने सुश्री कांग आती है और कहती है, पुलिस वाले वारेंट निकलवा रहे हैं।सुना है कि उनके पास तगड़ा गवाह है, डिटेक्टिव ओ-हाइजिन आपको भागना होगा। आपने कहा था, कि वो पहले आपको मारने आयेगी।मुजिन कहता है वही तो उसे (ज्वू) मेरे पास आना चाहिए था।

उसने पुलिस के साथ मिलकर मुझे दोखा दिया हैं। फिर वो बंदूक निकालता है और कहता हैं।जब से सड़क पर मैंने उसकी जान बचाई थी,तब से उसकी जान मेरी हैं।सुश्री कांग कहती है आप थोड़ा रुक जाइये।मुजिन कहता है कोई भी काम बिच में नही रोकना चाहिए, ये तब रुकेगा जब हम में से कोई एक मरेगा, मरुंगा या फिर मारुंगा। वह खुद पर नियंत्रण खो देता है और सुश्री कांग को बाहर करने के लिए मजबूर कर देता हैं।

पिल-डो और ज्वू कार से पुलिस स्टेशन जाने के लिए निकलते है और जैसे ही कार सिंगनल पर रुकता हैं।मुजिन बाईक पर हेलमेट पहने हुए आता है,और वह पिल-डो को बेरहमी से गोली मार देता हैं।जैसे ही उसका शरीर ज्वू के गोद में बेजान होकर गिरता है, उसके सिर पर लगी बंदूक की गोली से खून बहने लगता हैं। ज्वू कुछ देड़ के लिए सदमे में चली जाती है फिर उसे जैसे ही एहसास होता है कि उसके साथी आ रहे है, ज्वू पिल-डो के जेब से बंदूक निकालती है और सड़क पर निकल जाता हैं।

यह पिल-डो को हमने आखिरी बार देखा है लेकिन यह बहुत स्पष्ट है कि वह मर चुका है।ज्वू बंदूक लहराते हुए, सीधे मुजिन के होटेल में चली जाती है,और एक-एक करके गुंडों की पूरी सेना को मारते हुए अंदर चली जाती हैं।ज्वू अंदर भी लड़ाई करती है,फिर लोड करने से पहले चार गोलियां मारती है। फिर वह एक गोली छोड़ती है जब वह लिफ्ट से पेंटहाउस तक जाती है।उस दौरान वो जखमी भी होती हैं।


अपने बंदूक में केवल एक ही गोली रखने के बावजूद,वह मुजिन के सैनिकों के एक दल को मारकर जखमी कर देती हैं।अंत में अकेले ज्वू अपनी बंदूक तानकर मुजिन के सामने आ कर खड़ी होती हैं। मुजिन कहता है तुम थकी हुई लगती हो,ज्वू कहती है इतना भी नही की मैं तुम्हे जान से मार न सकू। मुजिन कहता है सही है मारना भी चाहिए। डोंगहून कमजोर था,उसे मुझे मारने के कई मौके थे लेकिन उसमे हिम्म्त नही थी।वो मरने वालो में से था।

पर तुम अलग थी,बिलकुल नही डरती थी। तो फिर क्या हुआ,हिचकिचाई क्यो,ज्वू कहती है हाँ मैं हिचकिचाई क्योकि मुझे इंसान की तरह जिना था।तुमने पुछा था,क्या किसी भी किमत पर बदला चाहिए। तुम्हारा मतलब तब समझ नही पाई थी,अब बताओ बदले की किमत हैवान बन जाना,तुम्हारे जैसा हैवान। मुजिन कहता है हाँ तुम हो मेरी जैसी, तो क्या तुम एक हैवान बनोगी।ज्वू कहती है क्योकि मै हिचकिचाई मेरे एक और अपने की मौत हो गई।

मेरा दर्द समझता था वो अपना सर टिका सकती थी उसके कंधे पर,इसलिए हैवान बनुंगी। और तुम्हारे आंखो में देखूंगी,जब तुम आखरी सांस ले रहे होगे।उसके बाद दोनो में लड़ाई शुरु हो जाती हैं। पुराने जमाने की चाकू लड़ाई में शामिल होने का फैसला करती हैं। ज्वू और मुजिन के बीच चाकूओं से द्वंद्व होता है,अंत में ज्वू मुजिन के गले में छुरा घोंप देती हैं।वह संतुष्टि के साथ देखती है जब वह दीवार से टकराकर निचे गिड़ता है,और उसका खून बहता हैं।

मुजिन के अड्डे पर पुलिस के पहुंचने से पहले के ज्वू लड़खड़ाकर दूर चली जाती हैं। कुछ दिन बाद ज्वू अपने पिता के प्रति सम्मान व्यक्त करती है,और उनकी कब्र पर अपनी और डोंगहून की एक साथ तस्वीर लगाती है। जैसे वह उन क्षणों को याद कर रही हैं।साथ में ज्वू पिल-डो के कब्र के सामने उसके साथ बिताए लमहो को याद करती हैं। और उसके कब्र पर फुल चढा कर उसके प्रति अपना सम्मान व्यक्त करती हैं। ईसी के साथ My Name Web Series Hindi यही पर खत्म होता हैं। The End:

My Name Review Hindi Final Word:

कहाँ जाता है कि किसी भी शो का अंत शो को बना या बिगाड़ सकता हैं।अचानक किया गया रोमांस लगता है इस शो में किसी तरह से जोड़ा गया हैं। और पूरे शो के दौरान जोड़ी के बीच वास्तव में किसी भी प्रकार का यौन तनाव या रोमांस नहीं था। इसलिए यह थोड़ा अजीब लगता हैं। और कैप्टन चा का क्या हुआ।

हालाँकि ज्वू को अपना बदला मिल जाता है और जै-मुजिन की धमकी को विफल कर दिया जाता हैं। लेकिन जिस तरह अचानक इसका अंत एक झटके में समाप्त कर दिया जाता हैं। इससे पब्लिक थोड़ा निरास हो सकती हैं। फिर भी My Name Web Series Hindi वास्तव में एक आनंदायक हैं।

संबंधित पोस्ट:

My Name Review Hindi | My Name Web Series Review Hindi

Omg 2 Movie Release Date| Omg 2 Movie Release Date In Hindi